ग्रामीणों ने भ्र्ष्टाचार के खिलाफ खोल मोर्चा, सड़क का मरम्मत कार्य कराया बन्द (Video)

जहाँ एक तरफ सड़क की मरम्मत कार्य जोरो पर है वही दूसरी तरफ बनाई जा रही सड़क की पिच उखड़ रही है। जिसके बाद स्थानीय ग्रामीण बनाये जा रहे सड़क की गुणवत्ता को लेकर गुस्से में है।

author-image
Sneha Singh
एडिट
New Update
Villagers

राहुल तिवारी, एएनएम न्यूज़: भ्रष्टाचार का एक उदाहरण सालानपुर प्रखंड के फुलबेरिया बोलकुंडा ग्राम पंचायत अंतर्गत प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से बनाये जा रहे बोलकुंडा से पातल जाने वाली सड़क में दिखाई दे रहा है। जहाँ एक तरफ सड़क की मरम्मत कार्य जोरो पर है वही दूसरी तरफ बनाई जा रही सड़क की पिच उखड़ रही है। जिसके बाद स्थानीय ग्रामीण बनाये जा रहे सड़क की गुणवत्ता को लेकर गुस्से में है। जिसके बाद स्थानीय लोगों ने सड़क की मरम्मत कार्य को बंद करवा दिया है।

बता दे उक्त सड़क के समीप सड़क निर्माण को लेकर लगे बैनर के मुताबिक, प्रधनमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से बोलकुंडा से पातल तक कि पिच सड़क के निर्माण कार्य बीते साल दिसंबर माह में शुरू हुआ। जिसके लिए राज्य सरकार के डब्ल्यूबीएसआरडीए द्वारा करीब 40 लाख रुपये आवंटित की गई और सड़क निर्माण का ठेका सीएफएस मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड को दिया गया। बताया जा रहा है कि ठेकेदार द्वारा सड़क निर्माण में विलम्ब की गई। हालांकि सड़क निर्माण शुरू हुआ और धीरे-धीरे सड़क निर्माण होने लगा। 

वही स्थानीय ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि ठेकेदार द्वारा सड़क का निर्माण में गुणवत्ता को ध्यान नहीं दिया जा रहा है, जिसके बाद ग्रामीणों ने सड़क का कार्य बन्द करवा दिया और अच्छे गुणवत्ता के साथ सड़क निर्माण की मांग कर रहे है। ग्रामीणों के अनुसार, सड़क के निर्माण के तुरंत बाद ही सड़क पर बिछे पिच उखड़ जा रहे है। मामले में बीजेपी नेता चिन्मय तिवारी ने कहा कि चारों ओर भ्रष्टाचार और चोरी चल रही है।

सालानपुर प्रखंड बीडीओ देबंजन विश्वास ने कहा कि ग्रामीणों की और से उनके पास कोई शिकायत नहीं आयी है, शिकायत मिलने पर वे स्वयं सड़क का निरीक्षण करने जायेंगे। वही यह सवाल उठ रहा है कि क्या प्रखंड बीडीओ अधीकारी की खुद कोई जिम्मेदारी नही है? कि वे क्षेत्र में स्वंय किसी कार्य का निरीक्षण करने नहीं जा सकते है। विषय को लेकर जिला परिषद स्वास्थ्य कर्मध्यक्ष मोहम्मद अरमान ने कहा कि सड़क के संबंध में उन्हें अभी जानकारी हुई है। मामले को लेकर उन्होंने कार्यपालक अभियंता को जानकारी दी है।