ICSE Board Secondary Examination: जामुड़िया के स्वर्णद्वीप ने हासिल किया चौथा स्थान

परिजनों के साथ-साथ जामुड़िया क्षेत्र के लोगों को इस पर गर्व है। स्वर्णद्वीप भविष्य में डॉक्टर बनना चाहता है। स्वर्णद्वीप ने कहा कि वह हर दिन 3-4 घंटे पढ़ाई करता था। वीडियो गेम खेलना भी पसंद है। उनका उच्चतम स्कोर 500 में से 495 है।

author-image
Kalyani Mandal
New Update
ICSE jamuria

टोनी आलम, एएनएम न्यूज़ : जामुड़िया के स्वर्णद्वीप मंडल ने आईसीएसई बोर्ड में माध्यमिक परीक्षा में चौथा स्थान हासिल किया। स्वर्णद्वीप ने भविष्य में डॉक्टर बनने की इच्छा व्यक्त की। जामुड़िया निवासी सुबोध मंडल व्यवसाय के सिलसिले में बेंगलुरु में रहते हैं। वह एक वैज्ञानिक हैं। मां प्रभाती मंडल। वो एक गृहिणी है। इसलिए पत्नी एक बेटे और एक बेटी के साथ बेंगलुरु में रहती है। बेटे स्वर्णदीप ने इसी वर्ष त्रिवेणी पब्लिक स्कूल से आईसीएसई बोर्ड की माध्यमिक परीक्षा दी थी। तीन दिन पहले नतीजा आया। ऑनलाइन नतीजे में पता चला कि स्वर्णदीप ने राज्य में चौथा स्थान हासिल किया है। परिजनों के साथ-साथ जामुड़िया  क्षेत्र के लोगों को इस पर गर्व है। स्वर्णद्वीप भविष्य में डॉक्टर बनना चाहता है। स्वर्णद्वीप ने कहा कि वह हर दिन 3-4 घंटे पढ़ाई करता था। वीडियो गेम खेलना भी पसंद है। उनका उच्चतम स्कोर 500 में से 495 है। बाबा सुबोध बाबू कहते हैं कि मुझे अपने बेटे के राजा पर गर्व है। मैंने अपने बेटे के व्यवहार पर कोई दबाव नहीं डाला। उन्होंने खुद ही पढ़ाई की। मैं स्वर्णद्वीप में डॉक्टर बनना चाहता हूं। मैं डॉक्टर की मदद के लिए जो भी कर सकता हूं वह करूंगा।