साल की आखिरी अमावस्या आज, जाने शुभ मुहूर्त और महत्व


23/11/2022 10:11:05 AM   Riya Mitra         6






स्टाफ रिपोर्टर, एएनएम न्यूज: वैसे तो हर अमावस्या का महत्व होता है, इस दिन स्नान दान करने से अधिक फल मिलता है। साल 2022 की आखिरी अमावस्या आज 23 दिसंबर को है। इसे मार्गशीर्ष अमावस्या के नाम से जाना जाता है। यह बहुत बड़ी अमावस्या है और आखिरी भी, इसलिए इसका महत्व खास है। आइए जानते हैं स्नान दान का का शुभ मुहूर्त और महत्व। ​

शुभ मुहूर्त: 23 नवंबर को स्नान और दान के लिए शुभ मुहूर्त सुबह 5 बजकर 6 मिनट से लेकर सुबह 6 बजकर 52 मिनट तक रहेगा।

महत्व: यह अमावस्या इसलिए खास है क्योंकि यह साल की आखिरी और मार्गशीर्ष अमावस्या है। इसके साथ ही इस दिन पितृ दोष खत्म होता है। इस दिन नदी में स्नान के बाद पितरों को जल से तर्पण करना चाहिए। इससे पितर प्रसन्न और तृप्त होते हैं, जिन लोगों पर पितृ दोष होता है, उनको मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन अपने पितरों के लिए पिंडदान, श्राद्ध, तर्पण आदि कार्य करना चाहिए। इस दिन पूजा के समय गजेंद्र मोक्ष का पाठ करना चाहिए। इससे पितर दोष खत्म होता है और उनका आशीर्वाद परिवार पर हमेशा बना रहता है। इस दिन ब्राह्मणों को भोजन का दान दें।



अधिक समाचार
For more details visit anmnewshindi.in
Follow us at https://www.facebook.com/hindianmnews 




TAGS :        news anmnews importentnews latestnews todaynews newsupdate Spiritualupdate new moonAuspicious time and importance